19
Fri, Jan

पटवारी का बास में चायनीज मांझे में फंसने से मोर घायल

Shrimadhopur
Typography
  • Smaller Small Medium Big Bigger
  • Default Helvetica Segoe Georgia Times

श्रीमाधोपुर। इलाके के ग्राम पटवारी का बास में बुधवार को चायनीज मांझे से एक मोर घायल हो गया जिसे ग्राम के लोगों ने पशु चिकित्सालय मे दिखाकर वन विभाग को सौंप दिया। ग्राम के विक्रम सिंह उर्फ रविन्द्र सिंह सामरा व जयनारायण धूड ने बताया कि दोपहर में एक जांटी के पेड में चायनीज मांझा उलझा हुआ था जिसमें एक मोर फंस गया जिससे मोर के दोनों पांव जख्मी हो गए।

मोर के चिल्लाने की आवाज सुन कर गाँव के लोगों के सहयोग से मोर को नीचे उतारा। मोर के पांवों में खून टपक रहा था जिसे श्रीमाधोपुर पशु चिकित्सालय लेकर आए जहाँ डॉक्टर बी.डी. खेरवा ने उपचार कर वन विभाग के कर्मचारी को सौंप दिया।

वन विभाग श्रीमाधोपुर के रेन्जर अश्विनी कुमार शर्मा ने क्षेत्र के लोगों से अपील करते हुए कहा कि चायनीज मांझे का प्रयोग न करे इससे पक्षियों के साथ-साथ जनहानि भी हो सकती है। पक्षियों के कहीं भी मांझे में उलझने पर मानवता दिखाते हुए उसे निकालें व वन विभाग को सूचना दे जिससे उनकी जान बचाई जा सके।

श्रीमाधोपुर पशु चिकित्सालय के चिकित्साधिकारी डॉक्टर बी.डी. खैरवा ने कहा है कि चायनीज मांझे में उलझने से पक्षियो के पंख व पांव कट जाते हैं और वे घायल हो जाते हैं, इस जानलेवा मांझे पर तो रोक लगनी ही चाहिए, साथ ही पक्षियों को समय पर अस्पताल पहुँचाए जिससे उनकी जान बचाई जा सके।

पटवारी का बास ग्रामवासी रविन्द्र सिंह जयनारायण का कहना है कि सरकार को चायनीज मांझे पर रोक लगानी चाहिए, दो दिन पूर्व गांव का एक युवक घायल हो गया था व आज एक मोर घायल हो गया।

पटवारी का बास में चायनीज मांझे में फंसने से मोर घायल
Peacock injured from Chinese manjha in Patwari Ka Bas

Sign up via our free email subscription service to receive notifications when new information is available.