19
Fri, Jan

अभावों में पली प्रियंका स्वामी राष्ट्रीय स्तर की धाविका बनेगी

Kanwat
Typography
  • Smaller Small Medium Big Bigger
  • Default Helvetica Segoe Georgia Times

परिस्थितियाँ कितनी भी प्रतिकूल हो, जीवन कितने भी अभावों में बीत रहा हो परन्तु अगर मन में सच्ची लगन हो तथा अपनों का सच्चा साथ हो तो इंसान का प्रगति के पथ पर आगे बढ़ना बहुत आसान तथा सुनिश्चित हो जाता है। अपनों में अगर माता पिता का मनमाफिक साथ मिल जाता है तो फिर हौसले चट्टानी हो जाते हैं। ऐसे ही चट्टानी होसलों की धनी खंडेला तहसील के भादवाडी गाँव निवासी प्रियंका स्वामी, कछुए की तरह धीरे ही सही परन्तु निरंतर अपनी मंजिल की तरफ आगे बढ़ रही है।

प्रियंका स्वामी 14 जनवरी से गोवा में होने वाली नेशनल क्रॉस कंट्री चैंपियनशिप में दस हजार किलोमीटर की दौड़ में शामिल होगी। प्रियंका राज्य स्तरीय प्रतियोगिताओं में स्कूल की तरफ से तीन बार हिस्सा ले चुकी है परन्तु इनकी मेहनत सफल होती तब दिखी जब इन्हें राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिता में अवसर मिलने का समाचार प्राप्त हुआ।

प्रियंका की बचपन से ही एथेलेटिक्स में बहुत रूचि रही है। प्रियंका के माता पिता ने अपनी बिटियाँ की रूचि को उसका सपना बनाकर उसे साकार करने में कोई कसर नहीं छोड़ी। माता-पिता ने उसे चूल्हे चौके से दूर रखा तथा उसे अपना ध्यान एथेलेटिक्स पर ही केन्द्रित रखने के लिए प्रेरित किया। माता-पिता ने बेटी की सफलता को ही अपना लक्ष्य बना लिया।

गाँव में सुविधाओं के अभाव की वजह से उसके पिता ने गाँव छोड़ कर अपना डेरा जयपुर में डाल लिया। अपनी बेटी के लिए साधन जुटानें के लिए उन्होंने जयपुर में मेहनत मजदूरी करना शुरू कर दिया तथा मजदूरी से प्राप्त आमदनी को खेल सामग्री तथा ट्रेनिंग पर खर्च करना शुरू किया। इनकी मेहनत धीरे-धीरे रंग ला रही है जिसका पहला उदाहरण प्रियंका का राष्ट्रीय प्रतियोगिता में शामिल होना होगा।

प्रियंका नियमित रूप से छह घंटो तक अभ्यास करती है तथा अब और कड़ी मेहनत करने में जुटी हुई है। प्रियंका के सपनों को साकार करने के लिए कुछ फौजियों ने भी कमर कस ली है फलस्वरूप प्रियंका के कोच की भूमिका भी भारतीय सेना से सेवानिवृत्त कोच गोविन्द सिंह निभा रहे हैं। सभी क्षेत्रवासी प्रियंका के सफल होने तथा उनके उज्जवल भविष्य की कामना कर रहे हैं।

अभावों में पली प्रियंका स्वामी राष्ट्रीय स्तर की धाविका बनेगी
Priyanka Swami will become a national level runner

Sign up via our free email subscription service to receive notifications when new information is available.