19
Fri, Jan

सीकर के मुकेश कुमार राणा का सारंगी में राजस्थान में प्रथम स्थान

Kanwat
Typography
  • Smaller Small Medium Big Bigger
  • Default Helvetica Segoe Georgia Times

राजस्थान युवा बोर्ड और राजस्थान सरकार की ओर से युवा कलाकारों की खोज के लिए जयपुर में दुर्गापुरा स्थित कृषि प्रबंधन संस्थान में 8 और 9 जनवरी को राज्य स्तरीय युवा सांस्कृतिक प्रतिभा खोज महोत्सव प्रतियोगिता का आयोजन किया गया जिसमे सीकर जिले के हरजनपुरा गाँव के सारंगी वादक मुकेश कुमार राणा ने सारंगी प्रतियोगिता में राज्य में प्रथम स्थान प्राप्त किया है।

प्रथम स्थान प्राप्त करने पर मुकेश को युवा मामले तथा खेल मंत्री श्री गजेन्द्र सिंह खीमसर तथा राजस्थान यूथ बोर्ड के अध्यक्ष श्री भूपेंद्र सैनी ने स्मृति प्रतीक तथा एक चैक से सम्मानित किया। मुकेश का कार्यक्रम 9 जनवरी को 2:30 बजे से 4:30 बजे के बीच आयोजित हुआ था। मुकेश ने खंडेला ब्लॉक, सीकर जिला तथा जयपुर संभाग की तरफ से प्रतियोगिता में हिस्सा लिया था।

आयोजन के प्रथम विजेता को 12 जनवरी को नॉएडा में होने वाले राष्ट्रीय युवा महोत्सव में भाग लेने का अवसर मिलेगा। साथ ही राज्य की युवा सांस्कृतिक प्रतिभाओं का एक डेटाबेस तैयार कर उसे राजस्थान यूथ बोर्ड की वेबसाइट पर अपलोड किया जाएगा ताकि जिलों की प्रतिभाओं को पहचान के साथ-साथ स्वरोजगार भी मिल सकें।

गौरतलब है कि इस कार्यक्रम में ब्लॉक स्तर, जिला स्तर और विभिन्न संभागों से चयनित लगभग 600 युवा कलाकारों ने भाग लिया है तथा इनमे से प्रथम, द्वितीय और तृतीय श्रेणी में विजेताओं को 15 हजार रूपए, 10 हजार रूपए और 7 हजार रूपए की राशि के साथ कला रत्न से भी सम्मानित करना प्रस्तावित था।

पिछले दो वर्षों से राजस्थान युवा बोर्ड की ओर से राज्य की दुर्लभ व लुप्त होती कला एवं संस्कृति के संरक्षण, सवर्धन व प्रोत्साहन हेतु प्रतिभाशाली युवा कलाकारों की खोज हेतु युवा सांस्कृतिक प्रतिभा खोज महोत्सव का आयोजन जिला कलक्टर के निर्देशन में भारत स्काउट एण्ड गाइड के माध्यम से प्रत्येक ब्लॉक, जिला, संभाग एवं राज्य स्तर पर किया जा रहा है।

युवा बोर्ड के अध्यक्ष भूपेंद्र सैनी ने जानकारी देते हुए बताया कि इस आयोजन में कुल 18 श्रेणियों में प्रतियोगिताएँ हुई जिनमें संगीत, गायन और वादन भी शामिल हैं। राजस्थान की परम्परागत लुप्त कलाओं जैसे रावण हत्था, सारंगी, अलगोजा, फड, रम्मत, सांगड़ी, भपंग, चंग, भजन, लोक गायन, लोक नृत्य, भित्ती चित्र, माडणा समेत चार सौ वर्ष पुरानी कठपुतली कला को संरक्षण देने के लिए यह आयोजन किया जा रहा है। इस आयोजन का मुख्य उद्देश्य युवा कलाकारों की प्रतिभाओं को पहचान और उन्हें स्वरोजगार प्रदान करवाना है।

महोत्सव में राज्य के लगभग 1,91,000 युवा कलाकारों एवं जनप्रतिनिधियोँ, विभिन्न विभागों के अधिकारियों, विभिन्न विश्वविद्यालयोँ, विद्यालयोँ, राजकीय व गैर सरकारी संगीत संस्थानों को भी इस महोत्सव में आमन्त्रित किया गया था। कार्यक्रम में प्रख्यात संगीतकार अनु मलिक एवं अभरती हुए लोकप्रिय संगीतकार अनमोल मलिक ने भी अपनी प्रस्तुति दी।

सीकर के मुकेश कुमार राणा का सारंगी में राजस्थान में प्रथम स्थान
Mukesh Kumar Rana of Sikar gets first place in Rajasthan in Sarangi

क्षेत्र का उभरता प्रतिभाशाली सारंगी वादक मुकेश कुमार राणा

Sign up via our free email subscription service to receive notifications when new information is available.