19
Fri, Jan

अजीतगढ़ के गायक आशुतोष भट्ट ने पद्मभूषण से पुरुष्कृत गजल सम्राट जगजीत सिंह की पुण्य तिथि पर गंगानगर में आयोजित पुष्पांजलि संगीत संध्या कार्यक्रम में “शाम से आंख में नमी सी है,” “पंजाबी टप्पा कोठे ते आ माहिया,” “भजन हे कृष्ण गोपाल हरि” जैसी जगजीत सिंह की प्रसिद्ध रचनाओं को श्रोताओं के समक्ष पेश कर कार्यक्रम में चार चाँद लगा दिए।

श्रीमाधोपुर अजीतगढ़ स्टेट हाईवे इस क्षेत्र की जीवन रेखा है जो जयपुर दिल्ली हाईवे नंबर 48 को जयपुर सीकर हाईवे नंबर 52 के मध्य की दूरी को काफी कम करके एक शॉर्टकट का कार्य करते हुए सीधा जोड़ता है। यह हाईवे शाहपुरा, त्रिवेणी धाम, अजीतगढ़ आदि से श्रीमाधोपुर को जोड़ने का प्रमुख मार्ग है। यह दिल्ली से खाटूश्याम जी तथा जीणमाता के लिए जाने वाले श्रद्धालुओं के लिए अत्यंत लघु मार्ग के रूप में उपलब्ध है।

10 जुलाई सोमवार को वन महोत्सव के दौरान शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में जिला प्रशासन व वन विभाग द्वारा अनेक स्थानों पर वृक्षारोपण कार्यक्रम आयोजित किये गये जिनमें से श्रीमाधोपुर उपखण्ड के जगदीशपुरी में आयोजित कार्यक्रम में विधानसभा के उपाध्यक्ष राव राजेन्द्र सिंह, जिले के प्रभारी सचिव मंजीत सिंह, सांसद सुमेधानंद सरस्वती, विधायक श्रीमाधोपुर झाबर सिंह खर्रा, प्रधान, सरपंच, त्रिवेणीधाम के महंत रिछपालदास, स्थानीय जनता एवं गणमान्य नागरिकों की उपस्थिति में बरगद व पीपल का वृक्ष लगाकर शुभारम्भ किया गया।

अजीतगढ़ निवासी ललित भट्ट के पुत्र गायक आशुतोष भट्ट ने अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर योग तथा स्वास्थ्य के महत्त्व को बताने के लिए स्वयं गीत लिखकर उन्हें संगीतबद्ध करके अपनी मधुर आवाज में गाया। उन्होंने दो मधुर गानों की रचना जनसामान्य में योग के महत्त्व को बताने के लिए की।दोनों गीतों के शीर्षक क्रमशः “योग गीत “ तथा “ओउम” दिय्रे गए है जिनमे बहुत अच्छे सन्देश छुपे हुए हैं।

Sign up via our free email subscription service to receive notifications when new information is available.