19
Fri, Jan

Top Stories

यूपीए सरकार ने जब आधार को शुरू किया था तब किसी ने भी इसकी महत्ता के बारे में नहीं जाना था। जब तत्कालीन सरकार ने इसको कुछ योजनाओं में लागू किया था तब ही यह दिखने लग गया था कि भविष्य में यह सरकार की सभी योजनाओं में लागू हो जाएगा। अब वह वक्त आ गया है जब धीरे-धीरे आधार सभी जगह अनिवार्यता बनता जा रहा है।

राजस्थान के कई इलाकों में एक लोकोक्ति अक्सर बोली जाती है कि अमुक का तो डीडवाना डूब गया। यही बात इन दिनों प्रदेश की भाजपा सरकार के लिए भी सही साबित होती दिख रही है। डीडवाना में लगे राष्ट्रविरोधी नारों से भाजपा सरकार का चाहे बाल भी बाँका न हुआ हो लेकिन राष्ट्रवाद का झूठा दम्भ भरने वाले फर्जी स्वयंसेवक रूपी मंत्रियों का ईमान तो डूब ही गया।

एक समय ऐसा भी था जब अमेरिका, यूरोप के देशों सहित दुनिया के अन्य देशों की नजर में भारत का सांस्कृतिक एवं आध्यात्मिक रूप से कोई महत्त्व नहीं समझा जाता था। इन देशों द्वारा भारत को केवल सपेरों एवं जादूगरों का देश ही समझा जाता था।

वर्ष 2016 सितम्बर में टेलिकॉम क्षेत्र में रिलायंस जिओ के धमाकेदार प्रवेश के बाद से सभी टेलिकॉम कंपनियों में हडकंप मचा हुआ है। रिलायंस जिओ की फ्री सेवाओं तथा आक्रामक मार्केटिंग स्ट्रेटेजी ने अन्य कंपनियों के लाभ को घाटे में बदलना शुरू कर दिया है।

Sign up via our free email subscription service to receive notifications when new information is available.
Advertisement